लाइफस्टाइलहेल्थ

Breast cancer symptoms : ये 4 बदलाव हो सकते हैं Breast cancer के लक्षण

Breast cancer symptoms – किसी भी महिला के स्तनों में गांठ पढ़ना शुरू हो जाती है तो यह ब्रेस्ट कैंसर का ही एक संकेत होता है। जब शरीर की कोशिकाएं नियंत्रण से बाहर होती है तब यह कैंसर जब शुरू होता है। ज्यादातर केस में ब्रेस्ट कैंसर कोशिकाएं ट्यूमर को बनाती है। यह ब्रेस्ट कैंसर को सिर्फ गांठ और x-ray के जरिए ही देखा जा सकता है। ज्यादातर यह कैंसर महिलाओं में ही होता है और कभी-कभी यह पुरुषों में भी पाया जाता है। स्तन कैंसर में कभी कबार गांठ की वृद्धि नहीं होती है, जिसके कारण आपको इस बीमारी के बारे में पता नहीं चलता है। लेकिन गांठ के अलावा भी और भी काफी सारे लक्षण होते हैं जिनके जरिए ब्रेस्ट कैंसर के बारे में पता कर सकते हैं।

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षणों के बारे में जानना काफी ज्यादा जरूरी है। क्योंकि अगर आपको इस बीमारी के बारे में पहले ही पता चल जाता है तो आप अपने शरीर में इस बीमारी को फैलने से बचा सकते हैं और उसका अच्छा ट्रीटमेंट ले सकते हैं। आर्टिकल में हम आपको 4 breast cancer symptoms  के बारे में बताएंगे जिससे आप ब्रेस्ट कैंसर के बारे में आसानी से पता करके इलाज करवा सकते हैं।

1.ब्रेस्ट और निप्पल में दर्द

ब्रेस्ट कैंसर में वैसे तो दर्द तो होता ही है। लेकिन यहां पर आपके स्तर और निप्पल में काफी ज्यादा दर्द महसूस हो सकता है। यह दर्द कभी कभी बनावट के कारण भी होता है। लेकिन अगर आप इस दर्द को नजरअंदाज करते हो और डॉक्टर के पास नहीं जाते हो तो आपको इसका भारी भुगतान भी करना पढ़ सकता है। ब्रेस्ट कैंसर धीरे धीरे और जगह भी फैलता है।

2.लाल पड़ना और सूजन दिखना

ब्रेस्ट कैंसर में त्वचा सूजी और लाल दिखाई देने लगती है। यदि आपको काफी ज्यादा स्तनों में दर्द हो रहा है और इस तरह की चीजें दिखाई दे रही है तो इस लक्षण को मामूली ना समझ कर अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। इस तरह के चेंज पर आपको खुद ही ध्यान देना होगा।

3.निप्पल का पीछे हटना या उलटा होना

ब्रेस्ट कैंसर में निप्पल की कोशिकाओं में भी बदलाव आता है जिससे वह अंदर और उल्टी हो सकती है। यह बदलाव ओव्यूलेशन के समय भी कभी कबार दिखाई देता है। अगर आपको ऐसे बदलाव दिख रहे हैं तो आप अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

4. निप्पल डिस्चार्ज

किसी भी महिला के निप्पल से डिस्चार्ज होना एक बहुत ही सामान्य बात नहीं होती है। आमतौर पर स्तन कैंसर के मामलों में पीले और लाल रंग का लिक्विड डिस्चार्ज होने लगता है। अगर आप अपने बच्चे का स्थानपात नहीं करा रही हैं और फिर भी निप्पल के जरिए डिस्चार्ज हो रहा है, तो अपने डॉक्टर से जरूर सालाह ले। निप्पल डिस्चार्ज के कारण कभी कभी यह कैंसर नहीं होता है। लेकिन आपको एक बार डॉक्टर से बात कर लेनी चाहिए जिससे आपको breast cancer symptoms के बारे में  पता चल जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button