हिस्ट्री (इतिहास)

Today History of: 7 जुलाई का इतिहास: आज का इतिहास भारत और विश्व ऐतिहासिक तथ्य


Aaj Ka Itihas इतिहास में 7 जुलाई की तारीख को दर्ज ऐतिहासिक घटनाएं


Aaj ka itihas – वैसे तो (Prachin Itihas) आज का इतिहास कई वजह से मशहूर हैं, (7 जुलाई का इतिहास) महेंद्र सिंह धोनी का जन्म 7 जुलाई 1981 को क्रिकेट के सबसे सफल खिलाड़ियों में से एक हुआ था। देश और दुनिया के इतिहास में 7 जुलाई की तारीख को दर्ज कुछ अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का क्रम विवरण इस प्रकार है…

aaj ka itihas 7 जुलाई का इतिहास आज का इतिहास Prachin Itihas Itihas

7 जुलाई का इतिहास: आज का इतिहास भारत और विश्व ऐतिहासिक तथ्य-

  • 1456 – जोन ऑफ आर्क को उनकी मृत्यु के 25 साल बाद दोषमुक्त किया गया।
  • 1656 – आज ही के दिन सिखों के आठवें गुरु हर किशन का जन्म हुआ था।
  • 1758 – आधुनिक त्रावणकोर के वास्तुकार राजा मार्तंड वर्मा का निधन
  • 1896 – भारत में सिनेमा का प्रवेश। लूमिर बंधुओं ने पहली बार मुंबई के वाटसन होटल में फिल्में दिखाईं।
  • 1912 – अमेरिकी एथलीट जिम थोर्प ने स्टॉकहोम ओलंपिक में चार स्वर्ण पदक जीतकर तहलका मचा दिया।
  • 1456 – जोन ऑफ आर्क को उनकी मृत्यु के 25 साल बाद दोषमुक्त किया गया।
  • 1656 – आज ही के दिन सिखों के आठवें गुरु हर किशन का जन्म हुआ था।
  • 1758 – आधुनिक त्रावणकोर के वास्तुकार राजा मार्तंड वर्मा का निधन
  • 1896 – भारत में सिनेमा का प्रवेश। लूमिर बंधुओं ने पहली बार मुंबई के वाटसन होटल में फिल्में दिखाईं।
  • 1912 – अमेरिकी एथलीट जिम थोर्प ने स्टॉकहोम ओलंपिक में चार स्वर्ण पदक जीतकर तहलका मचा दिया।
  • 1456 – जोन ऑफ आर्क को उनकी मृत्यु के 25 साल बाद दोषमुक्त किया गया।
  • 1656 – आज ही के दिन सिखों के आठवें गुरु हर किशन का जन्म हुआ था।
  • 1758 – आधुनिक त्रावणकोर के वास्तुकार राजा मार्तंड वर्मा का निधन
  • 1896 – भारत में सिनेमा का प्रवेश। लूमिर बंधुओं ने पहली बार मुंबई के वाटसन होटल में फिल्में दिखाईं।
  • 1912 – अमेरिकी एथलीट जिम थोर्प ने स्टॉकहोम ओलंपिक में चार स्वर्ण पदक जीतकर तहलका मचा दिया।
  • 1928 – पहली बार कटी हुई ब्रेड की बिक्री शुरू हुई। इसे मशीन से काट कर तैयार किया गया था।
  • 1981- क्रिकेट के सबसे सफल खिलाड़ियों में से एक महेंद्र सिंह धोनी का जन्म।
  • 1999 – परमवीर चक्र विजेता कैप्टन विक्रम बत्रा देश की रक्षा करते हुए शहीद हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button